अरुंधती रॉय ने लिखा ख़त डोभाल को, बदले में पाया थप्पड़ जैसा जबाब |

अरुंधती रॉय को हम सब भली प्रकार से जानते हैं | यह बेशर्म बाम नेता खुले आम देशद्रोहियों और आतंकियों की वकालत करती रही है | अपनी इसी घिनौन...



अरुंधती रॉय को हम सब भली प्रकार से जानते हैं | यह बेशर्म बाम नेता खुले आम देशद्रोहियों और आतंकियों की वकालत करती रही है | अपनी इसी घिनौनी मानसिकता के चलते अरुंधति राय ने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद को अनेक पत्र लिखे, जिनमें भारतीय जेलों में बंद आतंकवादियों के साथ अमानवीय व्यवहार और उनके समुचित उपचार के अभाव जैसी शिकायतें की गई थीं | इन देवी जी ने अपने पत्रों का जबाब भी माँगा था | जबाब मिला, बहुत माकूल जबाब मिला | भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार श्री अजीत डोभाल ने उनको क्या जबाब दिया, आप भी पढ़िए और हो सके तो औरों को भी पढ़ाईये -

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार,
दक्षिण ब्लॉक, रायसीना हिल,
नई दिल्ली -110011

प्रिय चिंतित नागरिक,

भारतीय सेना द्वारा हिरासत में लिए गए, और बाद में राष्ट्रीय सुधार प्रणाली में स्थानांतरित किये गए, आईएसआईएस और एलईटी आतंकवादियों के उपचार को लेकर आपने गहन चिंता व्यक्त करते हुए हाल ही में जो पत्र लिखा, उसके लिए धन्यवाद । हमारे प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लिया है और आपके अभिमत को नई दिल्ली में स्पष्टता से सुना और समझा गया है । आप जैसे नागरिकों की चिंताओं का धन्यवाद; और आपको जानकर खुशी होगी कि हम राष्ट्रीय रक्षा विभाग में एक नया विभाग बनाने जा रहे हैं, जिसे 'लिबरल्स एक्सेप्ट रिस्पांसिबिलिटी फॉर किलर्स' (हत्यारों की जिम्मेदारी स्वीकारते उदारवादी) के नाम से जाना जाएगा, संक्षेप में कहें तो - एलएआरआर ।

इस नए कार्यक्रम के दिशानिर्देशों के अनुसार, हमने एक आतंकवादी को अपने यहाँ से हटाकर उसे आपकी व्यक्तिगत देखभाल में रखने का निर्णय लिया है। आपके उस बंदी को चुन लिया गया है और अगले सोमवार को उसे भारी सशस्त्र बल के साथ मुंबई में आपके घर स्थानांतरित कर दिया जाएगा ।

अली मोहम्मद अहमद बिन महमूद (आप उसे केवल अहमद कह सकती हैं) की देखभाल आपके द्वारा दिए गए शिकायत पत्र में उल्लेखित मानकों के अनुरूप की जानी है! संभवतः आपके लिए यह जरूरी होगा कि आप इस कार्य में सहयोग के लिए कुछ सवैतनिक सहायकों की व्यवस्था करें | हम यह सुनिश्चित करने के लिए साप्ताहिक निरीक्षण का आयोजन करेंगे कि अहमद की देखभाल आपके द्वारा पत्र में सुझाये गए मानकों के अनुरूप हो रही है, अथवा नहीं । यद्यपि अहमद का व्यवहार अत्यंत असामाजिक और बेहद हिंसक है, फिर भी हम आशा करते हैं कि आप इस व्यक्ति की इन चारित्रिक दुर्बलताओं को अपनी संवेदनशीलता से दूर करने में सफल होंगी, जैसा कि आपने अपने पत्र में सहज attitudinal problem (व्यवहार संबंधी समस्या) बताते हुए उल्लेख किया है । शायद आप सही हों और ये समस्याएं आपके बताये अनुसार महज सांस्कृतिक अंतर ही हों ।

हमारा मानना है कि आपकी योजना “परामर्श और गृह विद्यालय” की पेशकश करने की हैं। '

आपका दत्तक आतंकवादी केवल हाथों के द्वारा निपटने में बहुत ही कुशल है और पेंसिल या नेल कटर जैसी सामान्य बस्तुओं की मदद से ही मानव जीवन का अंत कर सकता है । हमारी सलाह है कि आप अपने अगले योग समूह में, उसे उसके इस कौशल का प्रदर्शन करने को न कहें ।

अपने मित्रों, पड़ोसियों या रिश्तेदारों को सचेत रखें क्योंकि आपके घर आया यह अतिथि उत्तेजित या हिंसक भी हो सकता है, लेकिन हमें यकीन है कि आप उसके साथ तर्क कर समझा सकती हैं। वह आम घरेलू उत्पाद से विस्फोटक उपकरणों की एक विस्तृतसंरचना बनाने में भी विशेषज्ञ हैं, अतः शायद आप उन वस्तुओं को लॉक करके रखना पसंद करें, क्योंकि आपकी राय के अनुसार यह चीजें उसे उत्प्रेरित या कि उत्तेजित कर सकती हैं |

अहमद आप या आपकी बेटियों के साथ यौन विषय को छोड़कर अन्य किसी विषय पर बातचीत करना पसंद नहीं करेंगे, क्योंकि वह महिलाओं को संपत्ति का एक मानव रूप मानते हैं, जिसे उनके साथ यौन संबंधों से इनकार का कोई अधिकार नहीं है। यह उनके लिए एक विशेष रूप से संवेदनशील विषय है और उन्हें उन महिलाओं के साथ हिंसक प्रवृत्तियों प्रदर्शित करने के लिए जाना जाता है, जो उनके ड्रेस कोड का अनुपालन करने में असफल रहती हैं, क्योंकि वे महिलाओं हेतु उपयुक्त पोशाक की "अनुशंसा" करते हैं ।

मुझे यकीन है कि आपपूरे समय बुरका का लुत्फ़ लेंगी । बस याद रखें कि यह आपके पत्र में वर्णित 'उनकी संस्कृति और धार्मिक विश्वासों के सम्मान' का हिस्सा है।

आपके द्वारा व्यक्त की गई चिंता के लिए पुनः धन्यवाद |

हम वास्तव में सराहना करते हैं जब आप जैसे लोग हमें अपना काम उचित तरीके से करने के लिए निर्देशित करते हैं और हमारे अधीनस्थों की देखभाल के लिए आगे आते हैं | आप अहमद की अच्छे से देखभाल करें और याद रखें कि हम भी देख रहे होंगे।

सौभाग्य आपके साथ हो और ईश्वर आप पर कृपा करें

सौहार्द के साथ,

अजित डोवाल
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार⁠⁠⁠⁠ 

साभार आधार - http://www.antiscoopwhoop.com/arundhati-roy-once-wrote-a-letter-to-nsc-condemning-treatment-of-terrorists-and-recieved-a-befitting-reply/

मूल अंग्रेजी पत्र -

National Security Advisor ,
South Block, Raisina Hill,
New Delhi-110011

Dear Concerned Citizen,

Thank you for your recent letter expressing your profound concern of treatment of the ISIS and LeT terrorists captured by Indian Forces who were subsequently transferred to National Correctional System facilities. Our administration takes these matters seriously and your opinions were heard loud and clear here in New Delhi. You will be pleased to learn, thanks to the concerns of citizens like yourself; we are creating a new department here at the Department of National Defense, to be called 'Liberals Accept Responsibility for Killers' program, or L.A.R.K. for short.

In accordance with the guidelines of this new program, we have decided to divert one terrorist and place him in your personal care. Your personal detainee has been selected and is scheduled for transportation under heavily armed guard to your residence in Mumbai next Monday.

Ali Mohammed Ahmed bin Mahmud (you can just call him Ahmed) is to be cared for pursuant to the standards you personally demanded in your letter of complaint! It will likely be necessary for you to hire some assistant caretakers. We will conduct weekly inspections to ensure that your standards of care for Ahmed are commensurate with those you so strongly recommend in your letter. Although Ahmed is a sociopath and extremely violent, we hope that your sensitivity to what you described as his 'attitudinal problem' will help him overcome these character flaws. Perhaps you are correct in describing these problems as mere cultural differences.
We understand that you plan to offer counseling and home schooling.'

Your adopted terrorist is extremely proficient in hand-to-hand combat and can extinguish human life with such simple items as a pencil or nail clippers. We advise that you do not ask him to demonstrate these skills at your next yoga group.

Please advise any friends, neighbors or relatives as your house guest might get agitated or even violent, but we are sure you can reason with him. He is also expert at making a wide variety of explosive devices from common household products, so you may wish to keep those items locked up, unless (in your opinion) this might offend him

Ahmed will not wish to interact with you or your daughters (except sexually) since he views females as a sub human form of property thereby having no rights, including refusal of his sexual demands. This is a particularly sensitive subject for him and he has been known to show violent tendencies around women who fail to comply with the new dress code that he will "recommend" as more appropriate attire.

I'm sure you will come to enjoy the anonymity offered by the burka over time. Just remember that it is all part of 'respecting his culture and religious beliefs' as described in your letter.

Thanks again for your concern.

We truly appreciate it when folks like you keep us informed of the proper way to do our job and care for our fellow man. You take good care of Ahmed and remember we'll be watching.

Good luck and God bless you

Cordially,
Ajit Doval
National Security Advisor

COMMENTS

नाम

अखबारों की कतरन अपराध आंतरिक सुरक्षा उत्तराखंड ओशोवाणी कहानियां काव्य सुधा खाना खजाना खेल चिकटे जी तकनीक दुनिया रंगविरंगी देश धर्म और अध्यात्म पर्यटन पुस्तक सार प्रेरक प्रसंग बीजेपी बुरा न मानो होली है भगत सिंह भोपाल मध्यप्रदेश मनुस्मृति मनोरंजन महापुरुष जीवन गाथा मेरा भारत महान मेरी राम कहानी राजीव जी दीक्षित लेख विज्ञापन विडियो विदेश वैदिक ज्ञान शिवपुरी संघगाथा संस्मरण समाचार समाचार समीक्षा साक्षात्कार सोशल मीडिया स्वास्थ्य
false
ltr
item
क्रांतिदूत: अरुंधती रॉय ने लिखा ख़त डोभाल को, बदले में पाया थप्पड़ जैसा जबाब |
अरुंधती रॉय ने लिखा ख़त डोभाल को, बदले में पाया थप्पड़ जैसा जबाब |
https://3.bp.blogspot.com/-2vbsjNIolBc/WP8LrEWiSmI/AAAAAAAAHaA/aChSd6zh1jY-gTIXuHf1BcZkyOoxRiBTgCLcB/s1600/dr.nilam%2Bmahendra.jpg
https://3.bp.blogspot.com/-2vbsjNIolBc/WP8LrEWiSmI/AAAAAAAAHaA/aChSd6zh1jY-gTIXuHf1BcZkyOoxRiBTgCLcB/s72-c/dr.nilam%2Bmahendra.jpg
क्रांतिदूत
http://www.krantidoot.in/2017/04/arundhati-roy-once-wrote-a-letter-to-nsc-condemning-treatment-of-terrorists-and-recieved-a-befitting-reply.html
http://www.krantidoot.in/
http://www.krantidoot.in/
http://www.krantidoot.in/2017/04/arundhati-roy-once-wrote-a-letter-to-nsc-condemning-treatment-of-terrorists-and-recieved-a-befitting-reply.html
true
8510248389967890617
UTF-8
Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy