मार्क टुली की नजर में मोदी - "दीमक लगे पुराने बरगद को उखाड़ते मोदी"

SHARE:

"दुनिया बहुत कष्ट में है। बुरे लोगों की हिंसा के कारण नहीं, बल्कि अच्छे लोगों की चुप्पी के कारण!" - - नेपोलियन  कई दशकों...



"दुनिया बहुत कष्ट में है। बुरे लोगों की हिंसा के कारण नहीं, बल्कि अच्छे लोगों की चुप्पी के कारण!" - - नेपोलियन 

कई दशकों से भारत में बीबीसी के संवाददाता रहे मार्क टुली ने अपनी पुस्तक "नो फुल स्टॉप इन इंडिया" में मोदी शासन में हो रहे बदलावों के बारे में कुछ यूं लिखा हैं- 

भारत में बदलाव बहुत आसानी से नहीं होते, उनमें बहुत अधिक समय लगता है। 

बदलाव अमूमन धीरे धीरे और कष्टप्रद होते हैं । 

मेरा मानना ​​है कि इसे हम एक नई पद्धति का जन्म कह सकते है जो औपनिवेशिक काल के पुराने ढर्रे से बिलकुल अलग प्रकार की है 

लेकिन यह उदात्त भारतीय परम्परा है; जिसे पुरातन का आधुनिक रूप कहा जा सकता है, जो '' अन्य की तरह आधुनिकता की नकली नकल नहीं है ''। 

वह आगे कहते हैं कि - 

- "अपनी सभी महान उपलब्धियों के साथ, नेहरू वंश एक बरगद के पेड़ की तरह खड़ा है, जिसकी जड़ें दीमक ने खोखली कर दी हैं | किन्तु भारत के लोग और संस्थान अब तक उसकी छाया में ही रहे है, और जैसा कि सभी भारतीय जानते हैं कि बरगद के पेड़ के नीचे कुछ भी विकसित नहीं होता"। 

जैसा कि मार्क ने कहा, परिवर्तन धीरे धीरे और कष्टप्रद होगा, इसलिए जो इसे पढ़ पाने में असमर्थ है और अपनी धारणा के आधार पर निर्णय लेते है, वे काफी समय तक इन परिवर्तनों को नहीं देख पायेंगे या ऐसा दिखावा करेंगे जैसे कि कुछ भी नहीं बदल रहा है। 

जिस तरह रेलवे, पावर सेक्टर, डिफेंस प्रोडक्शन और गवर्नेंस में बदलाव आ रहे हैं, उसे लेकर पुरानी ताकतों की नाराजगी बताती है कि बदलाव की प्रक्रिया धीरे-धीरे किन्तु द्रढता से शुरू हो चुकी है, और स्वाभाविक ही यह परिवर्तन पुराने बरगद को पीड़ा दायक है । 

हम इस दीमक लगे हुए पुराने बरगद के पेड़ की क्षमताओं को कम न आंके, जो अभी भी किसी को भी पनपने से रोकने की हर संभव कोशिश करेगा | और कुछ नहीं कर पायेगा, तो कमसेकम गिरते गिरते भी अपने नीचे की मिट्टी को तो पलट ही देगा । 

अभी और कुछ सालों तक हम कुछ और दादरी देखेंगे, कन्हैया और ओवैसी जैसों की चीखपुकार और क्रियाकलाप के गवाह बनेंगे, लेकिन अंत में अगर समाज शांति से परिपक्व ढंग से सतत कार्य करता है, तो परिवर्तन स्थाई हो जाएगा और पुरानी ताकतों का स्वाभाविक अंत हो जाएगा। 

मैं एक बात और जोड़ना चाहता हूँ - - हर दिन मोदी सरकार को घेरने की इच्छा रखने वाली मीडिया आपके सामने नई हलचल पेश करती है, क्योंकि मोदी ने उन्हें उखाड़ फेंका है और उनकी स्थिति जल बिन मछली की तरह हो गई है । 

समय की मांग है कि हम इस आदमी का समर्थन करते रहें और उस पर अपने विश्वास को अक्षुण्ण बनाए रखें | तो निश्चित जानिये कि हम नए भारत को देखेंगे - महान, बेहतर, मजबूत, भ्रष्टाचार मुक्त, शांतिपूर्ण, समृद्ध और सबसे प्रमुख – उसमें बसे बेहतर जीवन स्तर वाले लोग। 

- मार्क टली।
मूल अंग्रेजी अंश -

"The world suffers a lot. Not because of the violence of bad people, But because of the silence of good people!" - -Napoleon
"Modi destroying termite ridden old Banyan tree"
-Mark Tully on Modi

Mark Tully the BBC correspondent for India for many decades
 writes about changes happening in Modi's regime.
In his Book "No Full Stops in India," while discussing about change writes -
In India change takes a lot more time.
The birth will be slow and perhaps painful.
I believe it could be the birth of a new order which is not held up by the crumbling colonial pillars left behind by the Raj 
but is GENUINELY Indian; a GC modern order, but ''not a slavish imitation of other modern orders”.
He goes on to say that
 – “For all its great achievements, the Nehru dynasty has stood like a Banyan tree, overshadowing the people and the institutions of India, and all Indians know that nothing grows under the Banyan tree”.
           As Mark said, Change will be slow and painful, therefore for someone who doesn’t read and makes judgement based on perception will for quite some time not be able to see the change taking place or will pretend as if nothing is changing.
            The way changes are coming in Railways, Power sector, Defense Production and in governance and at the same time accompanied by the resentment of the old forces indicate that the process of change has begun albeit slowly but
 firmly and is going to be painful.
Let us not undermine the capabilities of this termite ridden old Banyan tree which will still try its best to stop any one growing to the extent that it may even turn the soil upside down before falling down.
            For a year or so we may witness more of Dadris, more of Kanhaiyas, more of Owaisi style shouting but finally if the Society keeps its cool, acts maturely and continues to perform we will sail through and the old forces will die a natural death.
             LET ME ADD to this - every day the new stir media throws in your face is all doctored by forces who wish to topple Modi Govt as Modi has uprooted them and they are like fish out of the water.
               The time has come to continue to support the man and keep your faith intact and we will see new India for sure - bigger, better, stronger, corruption free , peaceful , prosperous than ever before with people having better quality of life..
- Mark Tully.

COMMENTS

नाम

अखबारों की कतरन,38,अपराध,1,आंतरिक सुरक्षा,15,इतिहास,68,उत्तराखंड,4,ओशोवाणी,16,कहानियां,37,काव्य सुधा,69,खाना खजाना,20,खेल,19,चिकटे जी,25,जनसंपर्क विभाग म.प्र.,4,तकनीक,83,दतिया,1,दुनिया रंगविरंगी,33,देश,159,धर्म और अध्यात्म,206,पर्यटन,14,पुस्तक सार,46,प्रेरक प्रसंग,80,फिल्मी दुनिया,9,बीजेपी,37,बुरा न मानो होली है,2,भगत सिंह,5,भारत संस्कृति न्यास,7,भोपाल,24,मध्यप्रदेश,272,मनुस्मृति,14,मनोरंजन,45,महापुरुष जीवन गाथा,102,मेरा भारत महान,292,मेरी राम कहानी,23,राजनीति,62,राजीव जी दीक्षित,18,राष्ट्रनीति,27,लेख,995,विज्ञापन,1,विडियो,23,विदेश,46,विवेकानंद साहित्य,10,वीडियो,1,वैदिक ज्ञान,70,व्यंग,7,व्यक्ति परिचय,24,शिवपुरी,328,संघगाथा,53,संस्मरण,35,समाचार,487,समाचार समीक्षा,731,साक्षात्कार,8,सोशल मीडिया,3,स्वास्थ्य,23,हमारा यूट्यूब चैनल,3,election 2019,24,
ltr
item
क्रांतिदूत: मार्क टुली की नजर में मोदी - "दीमक लगे पुराने बरगद को उखाड़ते मोदी"
मार्क टुली की नजर में मोदी - "दीमक लगे पुराने बरगद को उखाड़ते मोदी"
क्रांतिदूत
http://www.krantidoot.in/2019/05/Modi-destroying-termite-ridden-old-Banyan-tree-Mark-Tully-on-Modi.html
http://www.krantidoot.in/
http://www.krantidoot.in/
http://www.krantidoot.in/2019/05/Modi-destroying-termite-ridden-old-Banyan-tree-Mark-Tully-on-Modi.html
true
8510248389967890617
UTF-8
Loaded All Posts Not found any posts VIEW ALL Readmore Reply Cancel reply Delete By Home PAGES POSTS View All RECOMMENDED FOR YOU LABEL ARCHIVE SEARCH ALL POSTS Not found any post match with your request Back Home Sunday Monday Tuesday Wednesday Thursday Friday Saturday Sun Mon Tue Wed Thu Fri Sat January February March April May June July August September October November December Jan Feb Mar Apr May Jun Jul Aug Sep Oct Nov Dec just now 1 minute ago $$1$$ minutes ago 1 hour ago $$1$$ hours ago Yesterday $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago more than 5 weeks ago Followers Follow THIS CONTENT IS PREMIUM Please share to unlock Copy All Code Select All Code All codes were copied to your clipboard Can not copy the codes / texts, please press [CTRL]+[C] (or CMD+C with Mac) to copy